NSE का बड़ा बदलाव: 1,000+ स्टॉक्स collateral के लिए अयोग्य, Adani Power और Yes Bank शामिल

1 अगस्त से, NSE collateral criteria को अपडेट करेगा, जिसमें Adani Power और Yes Bank जैसे 1,000 से अधिक स्टॉक्स को नए ट्रेडिंग फ्रीक्वेंसी और इम्पैक्ट कॉस्ट आवश्यकताओं के कारण अयोग्य घोषित किया जाएगा।
NSE का बड़ा बदलाव

1 अगस्त से, Adani Power और Yes Bank सहित 1,000 से अधिक स्टॉक नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर collateral के रूप में पात्र नहीं होंगे। यह परिवर्तन NSE द्वारा collateral के रूप में स्वीकार किए जा सकने वाली प्रतिभूतियों के लिए अपनी पात्रता मानदंड को अपडेट करने के बाद आया है।

NSE क्लियरिंग (NCL) द्वारा निर्धारित नई आवश्यकताएं बताती हैं कि केवल वे स्टॉक जो पिछले छह महीनों में कम से कम 99% दिनों में ट्रेड हुए हों और ₹1 लाख के ऑर्डर के लिए 0.1% की इम्पैक्ट लागत वाले स्टॉक ही स्वीकार किए जाएंगे। यह संशोधन विभिन्न क्षेत्रों में प्रतिभूतियों की एक विस्तृत श्रृंखला को प्रभावित करता है।

सुजलॉन, हुडको और भारत डायनेमिक्स जैसे प्रमुख नामों के अलावा, भारती हेक्साकॉम, आईआरबी इंफ्रास्ट्रक्चर और एनबीसीसी जैसे अन्य उल्लेखनीय स्टॉक भी प्रभावित हैं। अपडेट की गई सूची में कुल 1,010 स्टॉक शामिल हैं जिन्हें collateral उद्देश्यों के लिए अयोग्य माना गया है।

एक सुचारू संक्रमण की सुविधा के लिए, NCL 31 जुलाई, 2024 तक रीप्लेज्ड अनअप्रूव्ड सिक्योरिटीज का मूल्यांकन करना जारी रखेगा, जिसमें एक परिवर्तनीय हेयरकट लागू होगा। इससे क्लियरिंग सदस्यों को अपनी collateral होल्डिंग्स को तदनुसार समायोजित करने का समय मिलता है।

1 अगस्त से, लागू हेयरकट 40% या जोखिम मूल्य, जो भी अधिक हो, होगा, और आने वाले महीनों में यह दर बढ़ेगी। नवंबर तक, हेयरकट बढ़कर 100% हो जाएगा, जो NSE द्वारा collateral मानकों में सख्ती को दर्शाता है।

Loading
Read More News

STOP PAYING

₹ 20 BROKERAGE

ON TRADES !

Trade Intraday and Futures & Options