Storage Technologies Ltd के शेयर BSE SME पर ₹148.20 पर 90% के शानदार प्रीमियम के साथ सूचीबद्ध हुए!

Storage Technologies & Automation Ltd ने BSE SME पर शेयरों की कीमत ₹148.20 तक पहुंच कर लॉन्च किया, जो शुरुआती कीमत से 90% अधिक है, जो मजबूत निवेशक विश्वास और बाजार क्षमता का संकेत देता है।
Storage Technologies Ltd के शेयर BSE SME पर ₹148.20 पर 90% के शानदार प्रीमियम के साथ सूचीबद्ध हुए!

Storage Technologies & Automation Ltd ने BSE SME पर 90% के उल्लेखनीय प्रीमियम पर शुरुआत की, जिसके शेयर ₹148.20 पर खुले। इस मजबूत लिस्टिंग ने प्रारंभिक निर्गम मूल्य से काफी बेहतर प्रदर्शन किया, जिससे कंपनी की बाजार संभावनाओं में निवेशकों का मजबूत विश्वास उजागर हुआ।

Invest In Alice Blue With Just Rs.15 Brokerage

Storage Technologies & Automation Ltd IPO, जिसे रैक एंड रोलर्स IPO के रूप में भी जाना जाता है, 30 अप्रैल, 2024 को लॉन्च हुआ और 3 मई, 2024 को बंद हुआ। इसने ₹10 के अंकित मूल्य के साथ ₹29.95 करोड़ मूल्य के 38.4 मिलियन शेयरों की पेशकश की। प्रत्येक, 278.82 गुना सदस्यता के साथ निवेशकों की पर्याप्त दिलचस्पी को आकर्षित कर रहा है।

2010 में स्थापित, Storage Technologies & Automation विभिन्न उद्योगों के लिए तैयार धातु भंडारण रैक और स्वचालित गोदाम समाधान बनाने में माहिर है। वे ग्राहकों की जरूरतों और नवाचार को प्राथमिकता देते हैं, अपनी उन्नत बैंगलोर सुविधा से ISO 9001:2015 प्रमाणित भंडारण समाधान प्रदान करते हैं।
कंपनी डिज़ाइन से लेकर डिलीवरी तक हर पहलू की देखरेख करती है, कड़ी जांच और एक समर्पित टीम के माध्यम से गुणवत्ता सुनिश्चित करती है, लगातार ग्राहकों की अपेक्षाओं से अधिक लागत प्रभावी और बेहतर उत्पाद प्रदान करती है।

अपने IPO के माध्यम से, Storage Technologies & Automation Ltd को मुख्य रूप से कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं के लिए धन जुटाने की उम्मीद है। कंपनी ने वित्तीय वर्ष 2025 में 2,750 लाख रुपये अलग रखने की योजना बनाई है, जिसमें अतिरिक्त धनराशि उधार और आंतरिक स्रोतों से आएगी, साथ ही सामान्य कॉर्पोरेट जरूरतों के लिए भी सहायता मिलेगी।

Read More News

Cummins India Q4 results : शुद्ध लाभ में 50% उछाल, राजस्व 19.9% बढ़कर ₹2,319 करोड़!

मजबूत घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय मांग के कारण Cummins India का चौथी तिमाही का शुद्ध लाभ 50% बढ़कर 530.5 करोड़ रुपये हो गया, जबकि राजस्व 19.9% ​​बढ़कर 2,319 करोड़ रुपये हो गया।