Meaning Of Centered Pivot Range Hindi

सेंट्रल पिवोट रेंज का मतलब – Central Pivot Range in Hindi

सेंट्रल पिवट रेंज (CPR) एक तकनीकी उपकरण है जो संभावित समर्थन और प्रतिरोध स्तरों का पूर्वानुमान करता है। यह पिछले दिन के उच्च, निम्न और बंद के मूल्यों से गणना की जाती है, जो व्यापारियों को सूचित एंट्री और एग्जिट निर्णय लेने में मदद करने वाला एक केंद्रीय पिवट प्वाइंट के साथ दो सहायक स्तरों को प्रदान करता है।

अनुक्रमणिका:

सेंट्रल पिवोट रेंज क्या है? – Central Pivot Range Meaning in Hindi

केंद्रीय पिवट रेंज (CPR) एक तकनीकी विश्लेषण उपकरण है जो एक व्यापारिक दिन के लिए महत्वपूर्ण समर्थन और प्रतिरोध स्तरों की गणना करता है। यह पिछले दिन के उच्च, निम्न, और बंद कीमत से निकाला जाता है, जिससे एक केंद्रीय पिवट और बाजार मार्गदर्शन के लिए दो महत्वपूर्ण आसपास के स्तर प्रदान किए जाते हैं।

केंद्रीय पिवट रेंज (CPR) मुख्य रूप से दिन के व्यापार में प्रमुख मूल्य स्तरों की भविष्यवाणी के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसमें एक केंद्रीय पिवट बिंदु शामिल होता है, जिसे पिछले दिन के उच्च, निम्न, और समापन मूल्यों से गणना की जाती है, और यह संभावित मूल्य आंदोलन के लिए एक प्राथमिक मापक के रूप में काम करता है।

केंद्रीय पिवट के आसपास दो अतिरिक्त स्तर होते हैं: शीर्ष और निचले पिवट रेंज। ये संभावित समर्थन और प्रतिरोध क्षेत्रों के रूप में कार्य करते हैं। व्यापारी इन तीन बिंदुओं का उपयोग प्रवेश, निकास, और स्टॉप-लॉस आदेश सेट करने की रणनीति बनाने के लिए करते हैं, उन्हें बाजार की भावना के लिए प्रमुख संकेतों के रूप में व्याख्या करते हैं।

उदाहरण के लिए: एक शेयर पर विचार करें जिसका पिछले दिन का उच्च मूल्य ₹150, निम्न मूल्य ₹130, और समापन मूल्य ₹140 था। CPR ₹140 पर एक केंद्रीय पिवट की गणना करता है, जिसमें समर्थन के आसपास ₹130 और प्रतिरोध के निकट ₹150 के आसपास होता है, जो व्यापारियों को संभावित प्रवेश और निकास बिंदुओं पर मार्गदर्शन प्रदान करता है।

CPR की गणना कैसे करें? – CPR Formula in Hindi 

सेंट्रल पिवोट रेंज (CPR) की गणना करने के लिए, सबसे पहले पिवोट पॉइंट का पता लगाएं: पिछले दिन के उच्च (उदाहरण के लिए, ₹150), निम्न (उदाहरण के लिए, ₹130), और बंद (उदाहरण के लिए, ₹140) को जोड़ें, फिर तीन से विभाजित करें। यह औसत केंद्रीय पिवोट होता है। शीर्ष और निचले स्तरों की गणना इन्हीं मानों का उपयोग करके अलग-अलग सूत्रों के द्वारा की जाती है, जो समर्थन और प्रतिरोध की सीमाएं प्रदान करती हैं।

पिवोट पॉइंट (P): P = (उच्च+निम्न+बंद) / 3

टॉप सेंट्रल पिवोट (TC): TC = (पिवोट पॉइंट+उच्च) / 2

बॉटम सेंट्रल पिवोट (BC): BC = (पिवोट पॉइंट+निम्न) / 2

CPR के फायदे – Advantages of CPR in Hindi

सेंट्रल पिवोट रेंज (CPR) के मुख्य फायदे इसकी स्पष्ट समर्थन और प्रतिरोध स्तर प्र