Difference Between Book Value and Market Value In Hindi

बुक वैल्यू और मार्केट वैल्यू के बीच अंतर – Difference Between Book Value and Market Value in Hindi

बुक वैल्यू और मार्केट वैल्यू के बीच मुख्य अंतर यह है कि बुक वैल्यू किसी कंपनी के वित्तीय विवरणों के अनुसार उसके शुद्ध परिसंपत्ति वैल्यू का प्रतिनिधित्व करती है, जबकि बाजार वैल्यू शेयर बाजार में कंपनी के मौजूदा स्टॉक वैल्यू या वैल्यूांकन को दर्शाता है।

अनुक्रमणिका:

बुक वैल्यू क्या है? – Book Value Meaning in Hindi

बुक वैल्यू एक वित्तीय मैट्रिक्स है जो किसी कंपनी की नेट संपत्ति को प्रतिनिधित्व करती है, जो कुल संपत्तियों से अवैल्यू संपत्तियों और देय हटाकर गणना की जाती है। यह कंपनी के बैलेंस शीट पर दर्ज किया जाता है और कंपनी के लिक्विडेट होने की वैल्यू का अनुमान देता है।

बुक वैल्यू कंपनी की अंतर्निहित वैल्यू के बारे में अनुमान प्रदान कर सकता है, यह निवेशकों के लिए एक उपकरण के रूप में काम करता है जिसे बाजार वैल्यू के साथ तुलना किया जा सकता है। यह यह निर्धारित करने में मदद करता है कि क्या किसी स्टॉक की कीमत उसकी वर्तमान बाजार कीमत के मुकाबले कम या अधिक है, जो उसकी संपत्तियों की वैल्यू के आधार पर होता है।

हालांकि, बुक वैल्यू हमेशा पूर्ण तस्वीर नहीं प्रदान करता। इसमें भविष्य की वृद्धि के संभावनाएँ, ब्रांड वैल्यू, या बाजार की स्थिति का ध्यान नहीं लिया जाता है। इसलिए, निवेश निर्णयों के लिए केवल बुक वैल्यू पर निर्भर करना गलत साबित हो सकता है, विशेष रूप से ऐसी कंपनियों के लिए जिनमें महत्वपूर्ण अवैल्यू संपत्तियाँ या वृद्धि की क्षमता हो।

उदाहरण के लिए, यदि किसी कंपनी की कुल संपत्तियाँ 100 करोड़ रुपये हैं और देयता 40 करोड़ रुपये है, तो इसका बुक वैल्यू 60 करोड़ रुपये होगा (100 – 40)। यह इसकी नेट संपत्ति को प्रतिनिधित्व करता है।

Invest In Alice Blue With Just Rs.15 Brokerage

बाज़ार वैल्यू का अर्थ – Market Value Meaning in Hindi

बाजार वैल्यू उस वर्तमान कीमत को संदर्भित करता है जिस पर किसी परिसंपत्ति या कंपनी को बाजार में खरीदा या बेचा जा सकता है। यह किसी कंपनी के स्टॉक की प्रचलित कीमत द्वारा निर्धारित होता है और किसी भी समय जनता द्वारा कंपनी के वैल्यूांकन को दर्शाता है।

बाजार वैल्यू स्टॉक मार्केट में मांग और आपूर्ति की गतिशीलता के आधार पर उतार-चढ़ाव करता है, जिसे कंपनी के प्रदर्शन, निवेशक भावना, बाजार के रुझान और आर्थिक परिस्थितियों जैसे कारकों से प्रभावित किया जाता है। यह वास्तविक समय में यह दर्शाता है कि निवेशक कंपनी के स्टॉक के लिए भुगतान करने को तैयार हैं।

यद्यपि बाजार वैल्यू निवेशकों की नजर में किसी कंपनी के वैल्यू की तात्कालिक समझ प्रदान करता है, परन्तु यह हमेशा कंपनी के दीर्घकालिक वैल्यू या बुनियादी तत्वों को सटीक रूप से प्रतिबिंबित नहीं कर सकता। बाजार वैल्यू बाहरी कारकों और बाजार की अटकलों से प्रभावित हो सकता है, जो कंपनी के वास्तविक वित्तीय स्वास्थ्य से संबंधित नहीं हो सकता।

उदाहरण के लिए, यदि किसी कंपनी का स्टॉक वर्तमान में 500 रुपये प्रति शेयर पर ट्रेड कर रहा है और इसके पास 1 करोड़ शेयर बकाया हैं, तो इसका बाजार वैल्यू 500 करोड़ रुपये (500 x 10 मिलियन) होगा।

बुक वैल्यू बनाम बाजार वैल्यू – Book Value Vs. Market Value in Hindi 

बुक वैल्यू और मार्केट वैल्यू के बीच मुख्य अंतर यह है कि बुक वैल्यू किसी कंपनी की वित्तीय स्थिति से परिसंपत्तियों को घटाकर देनदारियों के रूप में प्राप्त की जाती है, जबकि बाजार वैल्यू मौजूदा स्टॉक वैल्यू से निर्धारित होता है, जो दर्शाता है कि बाजार का मानना ​​है कि कंपनी का वैल्यू क्या है।

क्राइटेरियापुस्तक वैल्यूबाजार वैल्यू
परिभाषाकंपनी की संपत्ति घटा देनदारियांवर्तमान स्टॉक वैल्यू को बकाया शेयरों से गुणा किया गया
आधारवित्तीय विवरणों पर लेखांकन वैल्यूशेयर बाज़ार में कंपनी का वैल्यूांकन
प्रतिनिधित्वकंपनी का आंतरिक वैल्यूनिवेशक क्या भुगतान करने को तैयार हैं
स्थिरताआम तौर पर स्थिर, वित्तीय अद्यतन के साथ परिवर्तनअत्यधिक परिवर्तनशील, बाज़ार की स्थितियों के साथ बदलता है
उपयोगवैल्यूांकन, वित्तीय विश्लेषण, कंपनी का स्वास्थ्यनिवेश निर्णय, कंपनी की बाज़ार धारणा
प्रभावपरिसंपत्ति वैल्यू, वैल्यूह्रास, कंपनी का ऐतिहासिक वित्तीय प्रदर्शननिवेशक भावना, बाजार के रुझान, आर्थिक कारक

बुक वैल्यू और बाज़ार वैल्यू के बारे में त्वरित सारांश

  • बुक वैल्यू और बाजारी वैल्यू के मुख्य अंतर यह है कि बुक वैल्यू वित्तीय स्थितिक से आता है जैसे कि संपत्तियों में से ऋण घटाए जाने से, जबकि बाजारी वैल्यू वर्तमान शेयर कीमत पर आधारित है, जो किसी कंपनी के बाजार के वैल्यूांकन को दर्शाता है।
  • बुक वैल्यू कंपनी की नेट संपत्ति का वैल्यू है, जिसे कुल संपत्तियों से अवैल्यू संपत्तियों और देयताओं को घटाकर प्राप्त किया जाता है। बैलेंस शीट पर दर्ज किया जाता है, यह संकट में कंपनी की वैल्यू का अनुमान लगाता है।
  • बाजारी वैल्यू वह कीमत है जिस पर किसी कंपनी के शेयर वर्तमान में बिकते हैं, जनता के वैल्यूांकन को दर्शाता है। यह प्रस्तुत शेयर कीमत पर आधारित है, जो किसी कंपनी के वैल्यू की वास्तविक समय की कल्पना को दर्शाता है।
Invest in Mutual fund, IPO etc with just Rs.0

बुक वैल्यू और मार्केट वैल्यू के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

बुक वैल्यू और मार्केट वैल्यू में क्या अंतर है?

मुख्य अंतर यह है कि बुक वैल्यू कंपनी के वित्तीय रिकॉर्ड (परिसंपत्तियों में से देनदारियां घटाकर) पर आधारित होता है, जबकि मार्केट वैल्यू वर्तमान स्टॉक वैल्यू को दर्शाता है, यह दिखाता है कि बाजार कंपनी को क्या वैल्यू देता है।

बुक वैल्यू और मार्केट वैल्यू का उदाहरण क्या है?

एक उदाहरण: यदि किसी कंपनी की कुल संपत्ति 100 करोड़ रुपये है और देनदारियां 60 करोड़ रुपये हैं, तो इसका बुक वैल्यू 40 करोड़ रुपये है। यदि इसका स्टॉक 500 रुपये पर ट्रेड करता है, और 1 करोड़ शेयर हैं, तो मार्केट वैल्यू 500 करोड़ रुपये है।

बुक वैल्यू की गणना कैसे करें?

बुक वैल्यू की गणना करने के लिए, कंपनी की कुल देनदारियों को कुल संपत्ति से घटाएं। आप कंपनी के बैलेंस शीट पर ये आंकड़े पा सकते हैं। परिणामी वैल्यू कंपनी के बुक वैल्यू को दर्शाता है।

मार्केट वैल्यू की गणना कैसे की जाती है?

मार्केट वैल्यू की गणना कंपनी के स्टॉक के वर्तमान बाजार वैल्यू को बकाया शेयरों की कुल संख्या से गुणा करके की जाती है। यह कंपनी के कुल मार्केट वैल्यू या पूंजीकरण को देता है।

बुक वैल्यू क्यों महत्वपूर्ण है?

बुक वैल्यू महत्वपूर्ण है क्योंकि यह कंपनी की शुद्ध संपत्ति का एक माप प्रदान करता है, जो इसके आंतरिक वैल्यू का आकलन करने में मदद करता है। निवेशकों के लिए यह निर्धारित करने में उपयोगी है कि क्या स्टॉक अपनी परिसंपत्तियों के सापेक्ष अंडरवैल्यूड या ओवरवैल्यूड है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

All Topics
Related Posts
Auto Parts Stocks With High Dividend Yield in Hindi
Hindi

उच्च लाभांश प्राप्ति वाले ऑटो पार्ट्स स्टॉक – Auto Parts Stocks With High Dividend Yield In Hindi

नीचे दी गई तालिका उच्चतम बाजार पूंजीकरण के आधार पर उच्च लाभांश प्राप्ति वाले ऑटो पार्ट्स स्टॉक दिखाती है। Name Market Cap (Cr) Close Price