PE Vs PB Ratio In Hindi

PE बनाम PB अनुपात – PE Vs PB Ratio in Hindi

PE(प्राइस-टू-अर्निंग) और PB(प्राइस-टू-बुक) के बीच मुख्य अंतर यह है कि PE किसी कंपनी के स्टॉक मूल्य की तुलना उसकी प्रति शेयर आय से करता है, जो भविष्य की कमाई की क्षमता का संकेत देता है, जबकि PB स्टॉक मूल्य की तुलना प्रति शेयर बुक वैल्यू से करता है। , कंपनी की वास्तविक परिसंपत्ति मूल्य को दर्शाता है।

अनुक्रमणिका:

शेयर बाज़ार में PE अनुपात क्या है – PE Ratio In Share Market in Hindi

प्राइस-टू-अर्निंग्स (P/E) अनुपात एक वित्तीय मापदंड है जिसका उपयोग किसी कंपनी के स्टॉक मूल्य का उसके प्रति शेयर आय (ईपीएस) के सापेक्ष मूल्यांकन करने के लिए किया जाता है। यह बताता है कि निवेशक प्रति रुपये की आय के लिए कितना भुगतान करने को तैयार हैं, जिससे यह आकलन में मदद करता है कि क्या स्टॉक अधिमूल्यित या अवमूल्यित है।

P/E अनुपात की गणना कंपनी के वर्तमान शेयर मूल्य को उसके ईपीएस से विभाजित करके की जाती है। एक उच्च P/E यह संकेत दे सकता है कि स्टॉक अधिमूल्यित है या निवेशक भविष्य में उच्च वृद्धि की उम्मीद कर रहे हैं। इसके विपरीत, एक निम्न P/E अवमूल्यन या भविष्य की वृद्धि के प्रति संशय का सुझाव दे सकता है।

यह अनुपात निवेशकों को एक ही उद्योग की कंपनियों की तुलना करने में मदद करता है। अपने साथियों की तुलना में अधिक P/E वाली कंपनी को अधिक विकास-केंद्रित माना जा सकता है, जबकि एक निम्न P/E मूल्य निवेश के अवसर या संभावित समस्याओं का संकेत दे सकती है।

उदाहरण के लिए, यदि किसी कंपनी का स्टॉक ₹200 पर कारोबार कर रहा है और उसका ईपीएस ₹20 है, तो P/E अनुपात 10 होगा (₹200/₹20)। इसका मतलब है कि निवेशक कंपनी की प्रति ₹1 की आय के लिए ₹10 देने को तैयार हैं, जो उनके द्वारा स्टॉक के मूल्यांकन को प्रतिबिंबित करता है।

PB अनुपात क्या है – PB Ratio Meaning in Hindi

प्राइस टू बुक (P/B) अनुपात किसी कंपनी की वर्तमान बाजार कीमत की तुलना उसके प्रति शेयर बुक मूल्य से करता है। यह दर्शाता है कि शेयरधारक कंपनी की शुद्ध संपत्तियों के लिए कितना भुगतान कर रहे हैं। एक निम्न अनुपात संभावित अवमूल्यन का सुझाव दे सकता है, जबकि एक उच्च अनुपात संभावित अधिमूल्यन का संकेत दे सकता है।

P/B अनुपात एक स्टॉक के बाजार मूल्य को उसके बुक मूल्य के साथ तुलना करता है, जो किसी कंपनी के बैलेंस शीट से उसकी शुद्ध संपत्ति मूल्य होता है। यह निवेशकों को यह मूल्यांकन करने में मदद करता है