March 30, 2024
Return On Capital Employed Meaning In Share Market In Hindi

शेयर बाज़ार में ROCE का मतलब – Return on Capital Employed Meaning in Share Market in Hindi

शेयर बाजार में ROCE, या नियोजित पूंजी पर रिटर्न, किसी कंपनी की लाभप्रदता और उसकी पूंजी का उपयोग करने की दक्षता को मापता है। इसकी गणना ब्याज और करों से पहले की कमाई (EBIT) को नियोजित पूंजी से विभाजित करके की जाती है, जो दर्शाता है कि कोई कंपनी अपनी पूंजी से कितना अच्छा मुनाफा कमाती है।

अनुक्रमणिका:

स्टॉक मार्केट में ROCE का मतलब – ROCE Meaning in Hindi

स्टॉक मार्केट में, ROCE (कैपिटल एम्प्लॉयड पर रिटर्न) एक कंपनी की पूंजी का उपयोग करने में उसकी दक्षता और लाभप्रदता को मापता है। इसे ब्याज और करों से पहले की आय (EBIT) को पूंजी एम्प्लॉयड से विभाजित करके गणना की जाती है, यह दर्शाता है कि कंपनी कितनी प्रभावी ढंग से पूंजी को लाभ में परिवर्तित करती है।

ROCE (कैपिटल एम्प्लॉयड पर रिटर्न) एक कंपनी की लाभप्रदता और पूंजी उपयोग की दक्षता का मूल्यांकन करता है। यह कंपनी की पूर्ण पूंजी से लाभ अर्जित करने में उसकी प्रभावशीलता को मापता है, जिसमें इक्विटी और ऋण दोनों शामिल हैं, जो पूंजी-गहन उद्योगों में उपयोगी होता है।

ROCE की गणना ब्याज और करों से पहले की आय (EBIT) को कैपिटल एम्प्लॉयड (कुल संपत्तियां माइनस वर्तमान दायित्व) से विभाजित करके की जाती है। उच्च ROCE का सुझाव है कि पूंजी का अधिक कुशल उपयोग होता है, जो निवेशकों को यह मूल्यांकन करने में मदद करता है कि क्या कंपनी अपने निवेशों पर पर्याप्त रिटर्न अर्जित कर रही है, जो उद्योग के साथियों की तुलना करने के लिए महत्वपूर्ण है।

उदाहरण के लिए: यदि एक कंपनी की EBIT रु 50,000 है और कैपिटल एम्प्लॉयड रु 200,000 है, तो उसकी ROCE 25% है (रु 50,000 ÷ रु 200,000)। इसका मतलब है कि यह प्रत्येक रु 100 के निवेश पर रु 25 उत्पन्न करती है।

नियोजित पूंजी पर वापसी का उदाहरण – Return On Capital Employed Example in Hindi

मान लीजिए कि एक कंपनी का EBIT (ब्याज और करों से पहले की आय) ₹100,000 है और कैपिटल एम्प्लॉयड (कुल संपत्तियां माइनस वर्तमान दायित्व) ₹500,000 है। इसका ROCE 20% होगा (₹100,000 ÷ ₹500,000), यह दर्शाता है कि इस कंपनी की प्रत्येक ₹100 की पूंजी का उपयोग करके ₹20 कमाई होती है।

ROCE की गणना कैसे करें? – ROCE Formula in Hindi

ROE (रोज़गार पूंजी पर रिटर्न) की गणना करने के लिए, पहले आय विवरण से ब्याज और करों से पहले की कमाई (EBIT) ढूंढें। फिर, बैलेंस शीट से नियोजित पूंजी (कुल संपत्ति घटाकर वर्तमान देनदारियां) की गणना करें। अंत में, EBIT को नियोजित पूंजी से विभाजित करें और प्रतिशत प्राप्त करने के लिए 100 से गुणा करें।

ROCE = ब्याज और करों से पहले की कमाई (EBIT) / नियोजित पूंजी * 100

ROE बनाम ROCE – ROE Vs ROCE in Hindi 

ROE (इक्विटी पर रिटर्न) और ROCE (रोज़गार पूंजी पर रिटर्न) के बीच मुख्य अंतर उनके फोकस में है। ROE शेयरधारकों की इक्विटी के सापेक्ष लाभप्रदता को मापता है, जबकि ROCE ऋण और इक्विटी दोनों सहित कुल नियोजित पूंजी के खिलाफ लाभप्रदता का आकलन करता है, जो दक्षता का व्यापक परिप्रेक्ष्य पेश करता है।

फ़ैक्टरआरओई (इक्विटी पर रिटर्न)ROCE (रोज़गार पूंजी पर रिटर्न)
परिभाषाशेयरधारकों की इक्विटी के सापेक्ष कंपनी की लाभप्रदता को मापता है।किसी कंपनी की संपूर्ण नियोजित पूंजी (ऋण और इक्विटी) के मुकाबले उसकी लाभप्रदता का आकलन करता है।
फॉर्मूलाशुद्ध आय/शेयरधारकों की इक्विटीईबीआईटी (ब्याज और करों से पहले की कमाई) / नियोजित पूंजी (कुल संपत्ति – वर्तमान देनदारियां)
केंद्रयह दर्शाता है कि प्रबंधन इक्विटी निवेश का कितना प्रभावी ढंग से उपयोग कर रहा है।यह दर्शाता है कि कोई कंपनी मुनाफा कमाने के लिए अपनी कुल पूंजी का कितनी कुशलता से उपयोग कर रही है।
उपयोगिताशेयरधारकों के निवेश पर उत्पन्न रिटर्न का मूल्यांकन करने के लिए उपयोगी।किसी कंपनी द्वारा उधार ली गई और स्वामित्व वाली पूंजी दोनों के उपयोग की दक्षता का विश्लेषण करने में सहायक।

नियोजित पूंजी पर रिटर्न के फायदे और नुकसान – Advantages And Disadvantages Of Return On Capital Employed in Hindi

लाभ – Advantages

समग्र लाभप्रदता मूल्यांकन: ROCE ऋण और इक्विटी दोनों को ध्यान में रखते हुए कंपनी की लाभप्रदता का व्यापक दृश्य प्रदान करता है। यह विभिन्न उद्योगों में फर्मों की तुलना के लिए उपयोगी होता है, सभी उपलब्ध पूंजी स्रोतों का कुशलता से उपयोग करने में समग्र दक्षता को उजागर करता है।

पूंजी प्रबंधन प्रोत्साहन: कुल नियोजित पूंजी पर रिटर्न को प्रतिबिंबित करते हुए, ROCE कंपनियों को संपत्ति और ऋण उपयोग को अनुकूलित करने के लिए प्रोत्साहित करता है। इस प्रकार की पूंजी प्रबंधन पर ध्यान केंद्रित करने से दीर्घकालिक परिचालन दक्षता और वित्तीय स्थिरता में वृद्धि हो सकती है।

नुकसान – Disadvantages

उच्च ऋण प्रभाव: ROCE बड़े ऋण स्तरों द्वारा प्रभावित हो सकता है। अधिक उधार लेना पूंजी आधार को कृत्रिम रूप से बढ़ा सकता है, जिससे ROCE में संभावित रूप से वृद्धि हो सकती है, जो कंपनी की परिचालन दक्षता या लाभप्रदता को सही रूप में प्रतिबिंबित नहीं कर सकता है।

अल्पकालिक प्रासंगिकता सीमाएँ: ROCE अल्पकालिक वित्तीय प्रदर्शन का प्रभावी ढंग से संकेत नहीं दे सकता है, इसके बजाय दीर्घकालिक दक्षता पर केंद्रित होता है। यह तेजी से बदलते उद्योगों या उन फर्मों के लिए कम उपयुक्त है जो महत्वपूर्ण वित्तीय बदलावों का अनुभव कर रहे हैं, जहां तत्काल वित्तीय स्वास्थ्य महत्वपूर्ण है।

ROCE क्यों महत्वपूर्ण है? – Importance of ROCE in Hindi

ROCE महत्वपूर्ण है क्योंकि यह किसी कंपनी की पूंजी के उपयोग में उसकी लाभप्रदता और दक्षता को मापता है, यह अंतर्दृष्टि प्रदान करता है कि यह अपने कुल निवेश से कितनी अच्छी कमाई करता है। परिचालन दक्षता के आधार पर निवेश निर्णयों का मार्गदर्शन करते हुए, एक ही उद्योग की कंपनियों की तुलना करना महत्वपूर्ण है।

स्टॉक मार्केट में ROCE क्या है के बारे में  त्वरित सारांश

  • स्टॉक मार्केट में ROCE एक कंपनी की पूंजी उपयोग की दक्षता और लाभप्रदता का मूल्यांकन करता है। यह EBIT को कैपिटल एम्प्लॉयड से विभाजित करके निर्धारित किया जाता है, यह दर्शाता है कि एक फर्म अपनी पूंजी को कितनी अच्छी तरह से लाभ में परिवर्तित करती है।
  • ROCE की गणना के लिए, आय विवरण से ब्याज और करों से पहले की आय (EBIT) प्राप्त करें, बैलेंस शीट से कैपिटल एम्प्लॉयड (कुल संपत्तियां माइनस वर्तमान दायित्व) की गणना करें, और EBIT को कैपिटल एम्प्लॉयड से विभाजित करें, प्रतिशत के लिए 100 से गुणा करें।
  • ROE और ROCE के बीच मुख्य अंतर उनके फोकस क्षेत्रों में है: ROE शेयरधारकों की इक्विटी के खिलाफ लाभप्रदता का मूल्यांकन करता है, जबकि ROCE कुल नियोजित पूंजी के सापेक्ष लाभप्रदता पर विचार करता है, अधिक समग्र दक्षता विश्लेषण के लिए ऋण और इक्विटी दोनों को शामिल करता है।
  • ROCE का मुख्य लाभ एक कंपनी की लाभप्रदता और पूंजी उपयोग के सर्वांगीण मूल्यांकन में है, जो ऋण और इक्विटी दोनों को शामिल करता है। हालांकि, बड़े ऋण के साथ इसकी प्रभावशीलता कम हो सकती है, जिससे सच्ची इक्विटी दक्षता अस्पष्ट हो जाती है।
  • ROCE किसी कंपनी की लाभप्रदता और पूंजी उपयोग की दक्षता का आकलन करने में महत्वपूर्ण है, जो कुल निवेशों से आय उत्पादन के बारे में अंतर्दृष्टि प्रदान करता है। यह उद्योग के साथियों की तुलना करने और परिचालन दक्षता के आधार पर निवेश विकल्पों को सूचित करने में महत्वपूर्ण है।

ROCE क्या है के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

कैपिटल एम्प्लॉयड पर रिटर्न (ROCE) क्या है?

कैपिटल एम्प्लॉयड पर रिटर्न (ROCE) एक वित्तीय अनुपात है जो एक कंपनी की लाभप्रदता और अपनी पूंजी का उपयोग करने की दक्षता को मापता है, जिसे ब्याज और करों से पहले की आय (EBIT) को कुल नियोजित पूंजी से विभाजित करके गणना किया जाता है।

ROCE का एक उदाहरण क्या है?

ROCE का एक उदाहरण: यदि एक कंपनी EBIT में रु 100,000 कमाती है और इसके पास रु 500,000 की कैपिटल एम्प्लॉयड है, तो इसकी ROCE 20% है। इसका मतलब है कि यह प्रत्येक रु 100 के निवेश पर रु 20 उत्पन्न करती है।

एक अच्छी ROCE क्या है?

एक अच्छी ROCE उद्योग के अनुसार भिन्न होती है, लेकिन सामान्यतः, उद्योग के औसत से अधिक या पूंजी की लागत से अधिक ROCE को मजबूत माना जाता है। यह कुशल पूंजी उपयोग और अधिक लाभप्रदता की संभावना को दर्शाता है।

कैपिटल एम्प्लॉयड पर रिटर्न की गणना कैसे करें?

कैपिटल एम्प्लॉयड पर रिटर्न (ROCE) की गणना के लिए, आय विवरण से ब्याज और करों से पहले की आय (EBIT) को बैलेंस शीट से कैपिटल एम्प्लॉयड (कुल संपत्तियां माइनस वर्तमान दायित्व) से विभाजित करें, और प्रतिशत के लिए 100 से गुणा करें।

ROCE और ROE में क्या अंतर है?

कैपिटल एम्प्लॉयड पर रिटर्न (ROCE) और इक्विटी पर रिटर्न (ROE) के बीच मुख्य अंतर उनके फोकस में होता है: ROCE कुल नियोजित पूंजी के सापेक्ष लाभप्रदता का मूल्यांकन करता है, जबकि ROE केवल शेयरधारकों की इक्विटी के खिलाफ लाभप्रदता को मापता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

All Topics
Kick start your Trading and Investment Journey Today!
Related Posts
Three White Soldiers Candlestick In Hindi
Hindi

थ्री व्हाइट सोल्जर कैंडलस्टिक – Three White Soldiers Candlestick in Hindi

थ्री व्हाइट सोल्जर कैंडलस्टिक एक तेजी का पैटर्न है जो डाउनट्रेंड में एक मजबूत उलटफेर का संकेत देता है। इसमें तीन लगातार लंबी-लंबी कैंडलस्टिक्स होती

Enjoy Low Brokerage Demat Account In India

Save More Brokerage!!

We have Zero Brokerage on Equity, Mutual Funds & IPO