Trailing Returns Vs Rolling Returns In Hindi

ट्रेलिंग रिटर्न बनाम रोलिंग रिटर्न – Trailing Returns Vs Rolling Returns in Hindi

ट्रेलिंग रिटर्न और रोलिंग रिटर्न के बीच मुख्य अंतर यह है कि ट्रेलिंग रिटर्न एक विशिष्ट आरंभ तिथि से वर्तमान तक निवेश प्रदर्शन को मापता है, जबकि रोलिंग रिटर्न कई अवधियों में रिटर्न की गणना करता है, जो प्रदर्शन स्थिरता का अधिक व्यापक दृष्टिकोण प्रदान करता है।

अनुक्रमणिका:

ट्रेलिंग रिटर्न का मतलब – Trailing Returns Meaning in Hindi

ट्रेलिंग रिटर्न किसी म्यूचुअल फंड या अन्य निवेश उत्पाद के वर्तमान समय तक निर्दिष्ट अवधि के दौरान निवेश से होने वाले रिटर्न होते हैं। ये फंड के हाल के प्रदर्शन को दर्शाते हैं और इस बात की जानकारी देते हैं कि उस समयावधि में यह कैसा रहा है।

वार्षिक या कैलेंडर-वर्ष रिटर्न के विपरीत, ट्रेलिंग रिटर्न विभिन्न अवधियों, जैसे एक, तीन या पांच वर्षों के लिए गणना किए जा सकते हैं, और इन्हें दैनिक आधार पर अपडेट किया जाता है। यह उन्हें किसी निवेश की वर्तमान गति और विभिन्न समयों में स्थिरता का आकलन करने के लिए एक मूल्यवान उपकरण बनाता है।

यह माप विशेष रूप से समान अवधि में फंड या निवेशों के प्रदर्शन की तुलना करने के लिए उपयोगी है। ट्रेलिंग रिटर्न प्रदर्शन में रुझानों और पैटर्न को उजागर कर सकते हैं, जो निवेशकों को एक गतिशील परिप्रेक्ष्य प्रदान करते हैं जो वार्षिक रिटर्न पूरी तरह से प्रदर्शित नहीं कर सकते।

Invest In Alice Blue With Just Rs.15 Brokerage

रोलिंग रिटर्न का मतलब – Rolling Return Meaning in Hindi

रोलिंग रिटर्न विशिष्ट, ओवरलैपिंग समय अंतराल में किसी निवेश का औसत वार्षिकीकृत रिटर्न दर्शाते हैं। यह दृष्टिकोण प्रदर्शन का एक विस्तृत दृश्य प्रदान करता है, जिसकी लगातार पुनर्गणना की जाती है, जिससे लंबी अवधि में बाजार की अस्थिरता के खिलाफ निवेश की स्थिरता और लचीलेपन की स्पष्ट समझ प्राप्त होती है।

सार रूप में, रोलिंग रिटर्न निवेशकों को निवेश के रिटर्न की स्थिरता का आकलन करने में मदद करते हैं। कई अवधियों में रिटर्न का मूल्यांकन करके, यह दृष्टिकोण उन असामान्य प्रदर्शनों के प्रभाव को कम करता है जो अलग-अलग देखे जाने पर निवेश की गुणवत्ता की धारणा को विकृत कर सकते हैं।

यह विधि विशेष रूप से दीर्घकालिक रुझानों और रिटर्न की स्थिरता को समझने के लिए मूल्यवान है। यह निवेशकों को विभिन्न समय सीमाओं में प्रदर्शन की तुलना करने की अनुमति देता है, जो स्नैपशॉट-आधारित मैट्रिक्स जैसे पॉइंट-टू-पॉइंट या ट्रेलिंग रिटर्न की तुलना में अधिक बारीकी से देखने का अवसर प्रदान करता है।

रोलिंग रिटर्न बनाम ट्रेलिंग रिटर्न – Rolling Returns Vs Trailing Returns in Hindi 

ट्रेलिंग रिटर्न और रोलिंग रिटर्न के बीच मुख्य अंतर यह है कि ट्रेलिंग रिटर्न एक विशिष्ट प्रारंभ बिंदु से वर्तमान तक निवेश के प्रदर्शन को मापता है, जबकि रोलिंग रिटर्न कई अवधियों में औसत वार्षिक रिटर्न की गणना करता है, जो निवेश प्रदर्शन का अधिक व्यापक दृष्टिकोण पेश करता है।

पहलूट्रेलिंग रिटर्नरोलिंग रिटर्न
परिभाषाकिसी विशिष्ट पिछली तिथि से वर्तमान तक प्रदर्शन मापविभिन्न अतिव्यापी अवधियों में औसत वार्षिक रिटर्न की गणना की गई
निर्धारित समय – सीमानिश्चित (जैसे, 1 वर्ष, अब से 5 वर्ष पहले)बदलता रहता है, अक्सर कई अवधियों में (उदाहरण के लिए, 10 वर्षों में हर 3 साल में)
परिवर्तनशीलताविशिष्ट आरंभ और समाप्ति तिथियों पर निर्भरता के कारण यह अधिक हो सकता हैकई अवधियों में औसत करके परिवर्तनशीलता को सुचारू करता है
बाज़ार की संवेदनशीलताहाल की बाज़ार स्थितियों के प्रति अत्यधिक संवेदनशीलअल्पकालिक बाजार में उतार-चढ़ाव के प्रति कम संवेदनशील
उदाहरणहाल के निवेश प्रदर्शन का त्वरित मूल्यांकनदीर्घकालिक प्रदर्शन का व्यापक, अधिक सुसंगत दृष्टिकोण प्रदान करता है

ट्रेलिंग रिटर्न बनाम रोलिंग रिटर्न के बारे में त्वरित सारांश

  • मुख्य अंतर यह है कि ट्रेलिंग रिटर्न एक निर्धारित प्रारंभिक बिंदु से अब तक के निवेश प्रदर्शन का आकलन करते हैं, जबकि रोलिंग रिटर्न विभिन्न अवधियों में रिटर्न के औसत द्वारा एक व्यापक दृश्य प्रदान करते हैं।
  • ट्रेलिंग रिटर्न वर्तमान समय तक एक विशिष्ट अवधि में म्यूचुअल फंड के हाल के प्रदर्शन को मापते हैं, जो उस समयावधि में इसकी सफलता और प्रवृत्तियों की जानकारी प्रदान करते हैं।
  • रोलिंग रिटर्न ओवरलैपिंग अवधियों में औसत वार्षिकीकृत रिटर्न प्रदान करते हैं, जो निवेश के प्रदर्शन का एक विस्तृत, लगातार अपडेट किया गया विवरण देते हैं, जो बाजार की अस्थिरता के खिलाफ इसकी लचीलापन और स्थिरता को उजागर करते हैं।
  • आज ही एलिस ब्लू के साथ 15 मिनट में निःशुल्क डीमैट खाता खोलें! स्टॉक, म्यूचुअल फंड, बॉन्ड और आईपीओ में नि:शुल्क निवेश करें। साथ ही, सिर्फ ₹15/ऑर्डर पर ट्रेड करें और हर ऑर्डर पर 33.33% ब्रोकरेज की बचत करें।
Invest in Mutual fund, IPO etc with just Rs.0

रोलिंग रिटर्न बनाम ट्रेलिंग रिटर्न के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

ट्रेलिंग रिटर्न और रोलिंग रिटर्न के बीच क्या अंतर है?

ट्रेलिंग रिटर्न्स और रोलिंग रिटर्न्स के बीच का मुख्य अंतर यह है कि ट्रेलिंग रिटर्न्स किसी विशेष पिछले तारीख से वर्तमान तक के प्रदर्शन को मापते हैं, जबकि रोलिंग रिटर्न्स विभिन्न ओवरलैपिंग अवधियों में औसत रिटर्न्स को निवेश के प्रदर्शन का अधिक व्यापक दृष्टिकोण प्रदान करते हैं।

रोलिंग रिटर्न क्या है?

रोलिंग रिटर्न एक निवेश का औसत वार्षिक रिटर्न होता है, जिसे विशिष्ट, ओवरलैपिंग समय अंतरालों पर गणना की जाती है, जो प्रदर्शन का अधिक विस्तृत और संगत आकलन प्रदान करता है और बाजार की अस्थिरता के खिलाफ लंबी अवधि के दौरान सहनशीलता दिखाता है।

ट्रेलिंग रिटर्न्स का क्या मतलब है?

ट्रेलिंग रिटर्न्स से आशय एक निवेश के प्रदर्शन का मापन होता है जिसे एक विशेष पिछले बिंदु से वर्तमान तक किया जाता है, अक्सर यह निवेश पर हाल के बाजार परिस्थितियों के प्रभाव को एक निश्चित समय सीमा के दौरान दर्शाता है।

रोलिंग रिटर्न्स के लाभ क्या हैं?

रोलिंग रिटर्न्स के मुख्य लाभों में निवेश के प्रदर्शन की अधिक व्यापक समझ, अल्पकालिक बाजार अस्थिरता का प्रभाव कम होना, और दीर्घकालिक प्रवृत्तियों और निवेश संगति का स्पष्ट दृष्टिकोण मिलना शामिल है।

ट्रेलिंग रिटर्न्स की गणना कैसे करें?

ट्रेलिंग रिटर्न्स की गणना करने के लिए, अवधि की शुरुआत में निवेश के मूल्य को उसके वर्तमान मूल्य से घटाएं, शुरुआती मूल्य से विभाजित करें, और 100 से गुणा करके प्रतिशत रिटर्न प्राप्त करें।

रोलिंग रिटर्न्स की गणना कैसे करें?

रोलिंग रिटर्न्स की गणना करने के लिए, विभिन्न ओवरलैपिंग अवधियों के लिए वार्षिक रिटर्न की गणना करें, आमतौर पर मासिक या वार्षिक अंतराल का उपयोग करते हुए, फिर इन रिटर्न्स का औसत निकालें ताकि लंबी अवधि के प्रदर्शन और अस्थिरता का अधिक प्रभावी ढंग से आकलन किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

All Topics
Related Posts
VWAP vs TWAP In Hindi
Hindi

VWAP बनाम TWAP – VWAP vs TWAP in Hindi 

VWAP (वॉल्यूम वेटेड एवरेज प्राइस) और TWAP (टाइम वेटेड एवरेज प्राइस) के बीच मुख्य अंतर यह है कि VWAP अपनी गणना में वॉल्यूम को ध्यान