Standard Deviation in Mutual Fund in Hindi

म्यूच्यूअल फंड में स्टैंडर्ड डिविएशन – Standard Deviation in Hindi 

म्यूच्यूअल फंड में स्टैंडर्ड डिविएशन हमें दिखाता है कि किसी फंड की लाभ कितनी व्यापक हो सकती है उसके औसत लाभ से कितना भिन्न हो सकता है। यह एक ऐसा उपकरण है जो निवेशकों को किसी विशेष म्यूच्यूअल फंड के साथ जुड़े जोखिम को समझने में मदद करता है। सामान्य शब्दों में, यह निवेशकों को समझने में मदद करता है कि लाभों की स्थिरता या अस्थिरता कितनी हो सकती है, जिससे उन्हें अपने पैसे को कहां निवेश करने में मदद मिलती है।

अनुक्रमणिका:

म्यूच्यूअल फंड में स्टैंडर्ड डिविएशन क्या है? – Standard Deviation in Mutual Funds in Hindi

म्यूच्यूअल फंड में स्टैंडर्ड डिविएशन म्यूच्यूअल फंड के लाभों के ब्यापकता को दर्शाता है, यानी फंड की परिस्थितिकता का स्तर दर्शाता है। अधिक स्टैंडर्ड डिविएशन उच्च परिस्थितिकता और, परिणामस्वरूप, अधिक जोखिम को सूचित करता है। अगर किसी म्यूच्यूअल फंड का आमतौर पर लाभ 10% होता है और यदि स्टैंडर्ड डिविएशन को 5% के रूप में दर्ज किया जाता है, तो इसका मतलब है कि फंड के वास्तविक लाभ आमतौर पर 5% से 15% के बीच भिन्न हो सकते हैं। इसलिए, यदि कोई निवेशक इस म्यूच्यूअल फंड को देख रहा है, तो वह समझ सकता है कि उन्हें मिलने वाले लाभ की राशि 5% से कम या 15% से अधिक हो सकती है। यह जानकारी निवेशकों को यह निर्धारित करने में मदद करती है कि क्या यह फंड उनके सहज जोखिम के स्तर के साथ मेल खाता है और क्या यह उनके निवेश उद्देश्यों को पूरा करता है।

म्यूच्यूअल फंड में स्टैंडर्ड डिविएशन की गणना कैसे करें – Calculation of Standard Deviation in Hindi 

म्यूच्यूअल फंड में स्टैंडर्ड डिविएशन की गणना करने के लिए निम्नलिखित कदम हैं:

  1. म्यूच्यूअल फंड के आवधिक लाभ प्राप्त करें।
  2. औसत लाभ की गणना करें।
  3. प्रत्येक लाभ को औसत से भिन्नता की वर्गीकरण की गणना करके औसत से वर्गीकरण की औसत निकालें।
  4. अंत में, विचलन की औसत का वर्गमूल निकालकर स्टैंडर्ड डिविएशन प्राप्त करें।

म्यूच्यूअल फंड के लिए स्टैंडर्ड डिविएशन की गणना करने के लिए, सबसे पहले आपको किसी निश्चित समय के लिए फंड के लाभ प्राप्त करने होंगे। फिर, औसत लाभ प्राप्त करें। अगले कदम में, विचलन का गणना करें, जिसमें प्रत्येक लाभ और औसत लाभ के बीच विचलन के वर्ग का औसत निकालें। अंत में, विचलन की मानक औसत का वर्गमूल निकालें। यह मूल्य दिखाता है कि फंड के लाभ कितने विभिन्न हो सकते हैं, जिससे इसके जोखिम या परिस्थितिकता का स्तर प्रकट होता है।

स्टैंडर्ड डिविएशन के लाभ और हानियाँ – Advantages And Disadvantages Of Standard Deviation in Hindi 

स्टैंडर्ड डिविएशन का प्रमुख लाभ यह है कि यह निवेश की जोखिम को मापता है, जिससे निवेशक चपटपटी की मात्रा का मूल्यांकन कर सकते हैं। हालांकि, प्रमुख दुष्परिणाम यह है कि स्टैंडर्ड डिविएशन यह मानकित करता है कि म्यूच्यूअल फंड के लाभ सामान्य रूप से वितरित होते हैं, जो हमेशा सत्य नहीं होता।

अन्य लाभ निम्नलिखित हैं:

  • परिपथ की स्पष्ट मात्रा प्रदान करता है।
  • विभिन्न फंड की जोखिम की तुलना में मदद करता है।
  • विविधीकरण जोड़कर पोर्टफोलियो निर्माण में मदद करता है।
  • फंड के लाभ पूर्वानुमान में अनुमान दिलाता है।

अन्य नुकसान:

  • यदि इसे जोखिम का एकमात्र मानदंड के रूप में प्रयोग किया जाए, तो गुमराह कर सकता है।
  • उसपर-नीचे की फ्लक्चुएशन के बीच भिन्न करने में सफल नहीं होता है।

स्टैंडर्ड डिविएशन व्याख्या – Interpretation of Standard Deviation

स्टैंडर्ड डिविएशन का अर्थ है एक म्यूचुअल फंड में जोखिम और परिवर्तनशीलता की मात्रा समझना। ज्यादा स्टैंडर्ड डिविएशन का मतलब है ज्यादा जोखिम और परिवर्तनशीलता, और कम स्टैंडर्ड डिविएशन का मतलब है कम जोखिम और परिवर्तनशीलता।

अगर म्यूचुअल फंड A का स्टैंडर्ड डिविएशन 8% है और म्यूचुअल फंड B का 12% है, तो इसका मतलब है कि म्यूचुअल फंड B, म्यूचुअल फंड A से ज्यादा परिवर्तनशील और जोखिमपूर्ण है। निवेशकों को अपनी जोखिम सहिष्णुता और निवेश लक्ष्यों को ध्यान में रखकर स्टैंडर्ड डिविएशन को समझना चाहिए ताकि वे सही म्यूचुअल फंड चुन सकें।

स्टैंडर्ड डिविएशन के बारे में त्वरित सारांश

  • स्टैंडर्ड डिविएशन एक म्यूचुअल फंड के लाभ की परिवर्तनशीलता को मापता है। यह म्यूचुअल फंड की परिवर्तनशीलता और जोखिम का मूल्यांकन करने के लिए महत्वपूर्ण है।
  • स्टैंडर्ड डिविएशन की गणना में औसत, परिसर और परिसर का वर्गमूल निकालना शामिल है।
  • इसमें कई लाभ हैं, जैसे कि जोखिम को संख्यात्मक रूप में दर्शाना और पोर्टफोलियो की रचना में मदद करना, लेकिन इसमें नुकसान भी हैं, जैसे कि लाभ की सामान्य वितरण को मान लेना।
  • स्टैंडर्ड डिविएशन की सही व्याख्या करना व्यक्तिगत जोखिम सहिष्णुता और निवेश लक्ष्यों के आधार पर उपयुक्त म्यूचुअल फंड चुनने के लिए आवश्यक है।
  • Alice Blue म्यूचुअल फंड निवेश प्रदान करता है बिना किसी लागत के। Alice Blue के ‘Refer और Earn’ प्रोग्राम के साथ, आपको प्रत्येक संदर्भ के लिए ५०० रुपये मिलेंगे और आपके दोस्त की जीवन काल की ब्रोकरेज शुल्क का २०% मिलेगा, जो उद्योग में सबसे अधिक है।

क्या आप म्यूचुअल फंड्स के बारे में अपने ज्ञान को विस्तारित करना चाहते हैं? हमारे पास एक ऐसी सूची है जिसमें म्यूचुअल फंड्स के बारे में जानने में मदद मिलेगी। और अधिक जानने के लिए, लेखों पर क्लिक करें।

म्यूच्यूअल फंड रिडेम्प्शन
परपेचुअल SIP का अर्थ
अल्ट्रा शॉर्ट टर्म फंड क्या होते हैं?
माइक्रो कैप म्यूचुअल फंड क्या होते हैं
म्यूचुअल फंड में इंडेक्सेशन
इंटरवल फंड
फोलियो नंबर क्या है?
म्यूचुअल फंड में IDCW क्या है?
म्यूचुअल फंड में एग्जिट लोड क्या है?

स्टैंडर्ड डिविएशन  के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न 

1. म्यूचुअल फंड में स्टैंडर्ड डिविएशन क्या है?

म्यूचुअल फंड में स्टैंडर्ड डिविएशन एक सांख्यिकीय उपकरण है जिसे फंड के लाभ की परिवर्तनशीलता को मापने के लिए प्रयुक्त किया जाता है, जो जोखिम और परिवर्तनशीलता के स्तर को दर्शाता है।

2. म्यूचुअल फंड के लिए अच्छा स्टैंडर्ड डिविएशन क्या है?

निम्न स्टैंडर्ड डिविएशन को आमतौर पर अच्छा माना जाता है क्योंकि यह कम परिवर्तनशीलता और जोखिम को सूचित करता है, लेकिन ‘अच्छा’ स्टैंडर्ड डिविएशन स्तर व्यक्तिगत जोखिम सहिष्णुता और निवेश उद्देश्यों पर आधारित होता है।

3. म्यूचुअल फंड में स्टैंडर्ड डिविएशन क्यों महत्वपूर्ण है?

स्टैंडर्ड डिविएशन महत्वपूर्ण है क्योंकि यह म्यूचुअल फंड के लाभों में जोखिम और परिवर्तनशीलता के स्तर को संख्या में प्रदान करता है। इससे निवेशक अपनी जोखिम सहिष्णुता और न